कास्टर आयल ( अरंडी का तेल) क्या है उसके फायदे – What Is Castor Oil in Hindi, Benefits, Meaning

कास्टर आयल ( अरंडी का तेल) क्या है, उपयोग, फायदे एवं नुकसान । अरण्डी के गुण – What is Castor Oil in Hindi, Benefits, Meaning । Arandi Ke Tel Ke Fayde

अरंडी का तेल (Castor Oil) कैसे बनता है? उसके उपयोग और फायदे क्या है? अरंडी के तेल से नुकसान क्या क्या होता है? सारी जानकारी यहां पर दी जा रही है। अरंडी के बीज को देहाती भाषा में रेड़ी Redi का बीज भी कहा जाता है। अंग्रेजी में Castor Oil कहा जाता है। अरंडी के बीज में गिरी होता है, इसी से तेल निकलता है।

अरंडी का तेल Castor Oil कैसे बनता है?

अरंडी एक पौधा होता है और उसकी फलियों यानी बीज को सुखाकर मशीन से Arandi तेल निकाला जाता है। अरंडी का तेल वनस्पति तेल कहलाता है। इसका वैज्ञानिक नाम कैस्टरोरम है। अरंडी के तेल का कलर हल्के पीले रंग का होता है।

अरंडी के तेल Custard Oil किसी भी ब्रांड का 100 मिलीलीटर का पैक लगभग ₹200 से रुपए 250 तक मिल जाता है। इसे लोग बाल, त्वचा, चेहरे, ओठ में लगाने के लिए इस्तेमाल करते हैं।

अरंडी के तेल Castor Oil को अरंडी के बीज से 3 तरीके से निकाला जाता है-

  1. ऑर्गेनिक कोल्ड-प्रेस्ड कैस्टर ऑयल – इसे सीधा अरंडी के बीजों से निकाला जाता है।

2. जमैकन ब्लैक कैस्टर ऑयल – इसे बनाने के लिए अरंडी के बीजों को पहले भूना जाता है। और फिर इन्हें दबाकर तेल निकाला जाता है। अरंडी के बीज को भूलने पर रख निकलता है उसे तेल में मिला दिया जाता है जिससे या काले रंग का दिखता है।

3. हाइड्रोजनेटेड कैस्टर ऑयल – यह हाइड्रोजनेटेड कैस्टर ऑयल है। इसमें Nickel निकिल रसायनिक तत्व मिला होता है। अन्य अरंडी के तेल की तुलना में यह गंधहीन और पानी में भूलता नहीं और इसे सौंदर्य प्रसाधनों में इस्तेमाल किया जाता है। अरंडी तेल (Castor Oil) उपयोग करने के फायदे

4. चेहरे की त्वचा Skin Problem के लिए अरंडी का तेल Castor Oil बहुत ही फायदेमंद होता है। इस तेल में एंटी बैक्टीरियल (Anti Bacterial) और एंटी फंगल (Anti Fungal) गुण होते हैं। त्वचा, होंठों और बालों में लगाने से कई तरह की समस्या का चुटकियों में इलाज करता है।

5. चेहरे और त्वचा Dry Face Skin के रूखे पन में अरंडी का तेल लगाने से त्वचा सॉफ्ट होती है और रौनक आ जाती है। इसके लिए अरंडी के तेल में नारियल का तेल बराबर मात्रा में मिला कर चेहरे पर दो बार लगाना चाहिए। दो-तीन दिन में आपकी ड्राई त्वचा सही हो जाती है।

6. त्वचा के दाग धब्बे और ब्लैक स्पॉट (Used for Arandi Oil Skin Black Spot) पर भी अरंडी का तेल अच्छा काम करता है। गर्म पानी में थोड़ा अरंडी का तेल पानी में मिलाकर स्नान करने से तरोताजा आप महसूस करेंगे। अक्सर आंख के नीचे काले रंग Dark Circle Spot Under Eye का डार्क सर्कल बन जाता है, अरंडी का तेल नियमित लगाने से डार्क सर्कल छूमंतर हो जाता है।

7. जोड़ों के दर्द में राहत के लिए Castor Oil से मालिश करने पर जोड़ों के दर्द में भी आराम मिलता है। इसलिए क्योंकि इसमें एंटी इन्फ्लेमेटरी तत्व होता है जो जोड़ों के दर्द से छुटकारा दिलाने में असरदार होता है।

8. अरंडी का तेल कब्ज की समस्या से भी छुटकारा दिलाता है। अरंडी का तेल बड़ा गुणकारी है एक चम्मच अरंडी का तेल पीने से कब्ज की समस्या से राहत मिलती है।

9. एंटी बैक्टीरियल एंटी फंगल गुण के कारण दाद खाज खुजली में अरंडी का तेल लगाने से फायदा मिलता है। रात में अगर दाद खाज खुजली पर अरंडी का तेल लगा कर सो जाते हैं तो सुबह आपको फायदा मिलता है जल्दी इन समस्याओं से आराम मिल जाता है।

अरंडी के तेल के उपयोग । Uses of Castor Oil

  1. अरंडी के तेल बहुत उपयोगी है। इसका सही इस्तेमाल करना चाहिए तो यह बहुत ही उपयोगी साबित हो सकता है।
  2. पेट में दर्द हो रहा है या गैस की समस्या के कारण ऐसा हो रहा है तो अरंडी के तेल को गुनगुना कर पेट की मालिश की जा सकती है।
  3. निखरी त्वचा पाने के लिए रात को सोने से पहले हल्का गुनगुना किया हुआ अरंडी का तेल चेहरे पर लगाएं और सुबह चेहरा धोने से चेहरा निखर जाएगा।
  4. बाल झड़ने की समस्या Hair Falling Problem से परेशान लोगों के लिए रात में थोड़ा सा अरंडी का तेल अपने सिर पर मालिश करने से बड़ा उपयोगी साबित होता है, धीरे-धीरे बाल निकलने लगते हैं। बालों के सफेद होने की समस्या और बाल में रूसी की समस्या से भी अरंडी के तेल के मालिश से लाभ मिलता है।
  5. जलने के कारण हुए घाव पर अरंडी का तेल Castor Oil चूने के साथ मिलाकर लगाने से घाव जल्दी ठीक हो जाता है।
  6. नाखून चमकदार बनाने के लिए हल्का सा अरंडी के तेल को गर्म करके नाखून सूती कपड़ों से मालिश करने से नाखून चमकदार होते हैं।
  7. कॉस्मेटिक पदार्थ में रेडी यानी कि अरंडी का तेल मिलाया जाता है।

अरंडी के तेल के नुकसान । The Side Effect of Arandi Oil in Hindi

1. अरंडी का तेल गुणकारी, फायदेमंद, उपयोगी है लेकिन कुछ मामले में अरंडी के तेल से नुकसान भी होता है। इसके बारे में यहां नीचे जानकारी दी जा रही है कि अरंडी के तेल से क्या क्या नुकसान हो सकता है।

2. गर्भावस्था में महिलाओं को अरंडी का तेल इस्तेमाल नहीं करना चाहिए क्योंकि इसकी तासीर गर्म होती है और यह नुकसानदायक साबित हो सकता है।

3. अरंडी के तेल का इस्तेमाल अधिक करने से उल्टी और डिहाइड्रेशन की समस्या हो जाती है।

4. इसमें लैक्सटिव गुण पाया जाता है, जिस कारण से कब्ज की समस्या से राहत मिलती है लेकिन इसका अधिक इस्तेमाल करने से दस्त की समस्या भी हो सकती है।

5. अरंडी के तेल में रिसिन नामक जहर होता है। अगर इसकी अधिक मात्रा कोई पी ले तो पेट में मरोड़ होने के कारण उसकी मौत भी हो सकती है इसलिए अरंडी के तेल को दवा के रूप में पीने से पहले डॉक्टरी सलाह जरूर ले लेनी चाहिए।

6.अरंडी के तेल का इस्तेमाल करते समय सावधानी बरतना चाहिए क्योंकि इसके अधिक उपयोग से नुकसान हो सकता है। बच्चों के गुप्तांगों में अरंडी का तेल नहीं लगाना चाहिए। उनके नाजुक अंगों को नुकसान अरंडी के तेल से पहुंच सकता है।

7. अरंडी के तेल का उपयोग सर्जरी होने वाली हो तो कभी नहीं करना चाहिए बल्कि चिकित्सक से परामर्श ले लेना चाहिए। पेट में सूजन की समस्या हो तो अरंडी के तेल का इस्तेमाल कब्ज के लिए कभी भी नहीं करना चाहिए। किसी तरह की एलर्जी है और अरंडी के तेल का उपयोग बिना डॉक्टरी सलाह के नहीं करना चाहिए।

Leave a Comment