Kale क्या है, Kale Vegetable Leaf के फायदे और नुकसान । What Is Kale in Hindi

Kale in Hindi- अक्सर आपने और हमने अपने बड़ों से लेकर डॉक्टर्स से भी सुना है कि हरी सब्जियां बहुत ही पौष्टिक होती हैं। तो इसमें किसी भी प्रकार का कोई संदेह नहीं है हरी सब्जियां पौष्टिक होती हैं। बहुत सारे लोगों को आपने यह भी कहते हुये सुना होगा कि शाकाहारी में खाने के लिए है ही क्या तो ऐसा भी नहीं है शाकाहारी लोगों के लिए सब्जियों की कमी नहीं है। ढ़ेरों हरी सब्जियां है जो बहुत ही पौष्टिक एवं फायदेमंद है इन्ही सब्जियों में से एक है “केल(काले)“. आखिर “केल क्या है(What is Kale in Hindi)” हो सकता है आपके मन में अब यह सवाल भी उठ रहा होगा। शायद बहुत से लोगों की तरह आप भी केल Kale Vegetable से अपरिचित हों, तो परेशान न हों आज इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको काले के बारे में समस्त जानकारी जैसे केल खाने के फायदे क्या-क्या है (Kale Ke Fayde) और इसे कैसे उपयोग में लाया जाता है इसके बारे में विस्तार से बतायेंगे। साथ ही यहां आप जान सकते है कि करौंदा क्या है और इसके फायदे क्या हैं.

केल क्या है – What Is Kale Vegetable Leaf in Hindi

केल एक बहुत ही स्वादिष्ट हरी पत्तेदार सब्जी है (Kale Vegetable Leaf) जिसे हम लीफ कैबेज( Leaf Cabbage) भी कहते हें। इसका रंग हरे के साथ बैंगनी भी होता हैं। काले लीफ में बहुत सारे पोषक तत्व जैसे एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन सी भरपूर मात्रा में होते हैं। काले लीव्ज पत्तागोभी, ब्रोकली एवं फूलगोभी के परिवार की ही एक सब्जी है।

काले हमारी सेहत के लिए कैसे अच्छा है- How Kale Vegetable Benificiary  our health in Hindi

जैसा कि हमने आपके साथ ऊपर शेयर किया है कि काले एक बहुत ही पौष्टिक खाद्य पदार्थ है जिसमें  विटामिन (ए, सी, के), पौटेशियम, फाइबर, कैल्शियम आदि पोषक तत्व पाये जाते हैं। यह आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक होते हैं। इतना ही नहीं इमसें एंटीऑक्सीडेंट गुण पाया जाता है जो हमारे शरीर की कोशिकाओं का बचाव करता है जिससे कैंसर जैसी बीमारी में फायदा देता है। यहां क्लिक करके आप जान सकते हैं कि जुड़वा बच्चे कैसे पैदा होते है.

केल के फायदे – Kale Leaves Ke Fayade

Kale Leaves Ke Fayade के कई सारे फायदे हैं जिनमें से कुछ के बारे जानकारी नीचे शेयर की जा रही है।

1-केल हृदय के लिए बहुत ही फायदेमंद होती हैं। क्योंकि वर्तमान की भागदौड़ भरी जिंदगी में हृदय का स्वस्थ रहना थोड़ा मुश्किल है। इसके लिए आप काले को अपना डाइट में शामिल कर सकते हैं।

2. केल में फाइबर की भरपूर मात्रा होती हैं जो पाचन को सही रखने में बहुत ही मददगार होता है, तो पाचन की समस्या को दुरुस्त रखने के लिए आप अपनी डाइन में काले को सम्मिलित कर सकते हैं।

3. उम्र गुजरने के साथ हड्डियों की समस्या होने लगती हैं, काले में कैल्सियम की मात्रा भरपूर होती हैं जो हड्डियों को मजबूत व उनके विकास में मददगार होती है। तो हड्डियों की समस्या से निजात पाने के लिए आप काले को अपनी डाइट में सम्मिलित कर सकते हैं।

4. वर्तमान समय में डायबिटीज एक बहुत ही बड़ी समस्या बनी हुई है जिससे बहुत संख्या में लोग ग्रसित हैं। यदि आप मधुमेह से बचना चाहते हैं तो एंटी-डायबिटिक गुण से समृद्ध वेजिटेविल काले को अपनी डाइट में सम्मिलित करें। यह डायबिटीज के जोखिमों से आपको बचा सकती है।

5. वर्तमान में भागदौड़ भरी जिंदगी में तनाव में रहना स्वाभाविक है, यदि आप भी इस समस्या से बचना चाहते हैं और डिप्रेशन में नहीं जाना चाहते हैं तो अपने खाने में केल को सम्मिलित करें। केल में एंटी डिप्रेसेंट ( Antidepressant) गुण पाये जाते हैं, जो तनाव में आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता हैं।

6- कैंसर के लिए लाभदायक– केल वेजिटेविल में पोटैशियम, कैल्सियम व फाइबर भरपूर मात्रा में पाये जाते हैं इसके साथ ही इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण भी पाया जाता हैं जो कोशिकाओं को क्षतिग्रस्त होने से बचाव करता हैं एवं कैंसर बीमारी के जोखिम कम करता हैं। तो इसे आप अपनी डाइट में सम्मिलित जरूर करें।

7-  यदि आप आंखो की समस्या से बचना चाहते हैं तो केल को अपने खाने में सम्मिलित करें क्योंकि केल में विटामिन-ए भरपूर मात्रा में होता हैं जो आंखों को हेल्दी रखने के साथ उनकी रोशनी का विकास करने में भी मददगार सावित हो सकता हैं।

8- रोग प्रतिरोधक शक्ति को बढ़ाने में भी केल मददगार सावित हो सकता हैं क्योंकि केल में कई पौष्टिक तत्वों के साथ एंटीऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में होते हैं जो व्यक्ति के इम्यून सिस्टम को मजबूत करने में मदद करते हैं।

9- यदि आप मोटे नहीं होना चाहते हैं तब भी आप केल लीफ का उपयोग कर सकते हैं। विशेषज्ञों के अनुसार मोटापे पर कन्ट्रोल पाने के लिए आपको व्यायाम तो करना ही होगा साथ में डाइट पर भी ध्यान देना होगा। डाइट में हरी पत्तेदार सब्जियों को जरूर सम्मिलित करना होगा तभी मोटापे से छुटकारा पाया जा सकता है। तो आप केल की पत्तियों को अपने खाने में जरूर सम्मिलित करें।

10-  वर्तमान में मोटापा एक बहुत गंभीर समस्या है जिसके कारण आज लगभग हर दूसरा पीड़ित है। मोटापा कम करने के लिए लोग व्यायाम व योग करते हैं, लेकिन यह तभी कारगर साबित होगा जब आप अपनी डाइट पर ध्यान देंगे। इसके लिए आपको हरी पत्तेदार सब्जियों को अपनी डाइट में शामिल करना होगा। इसके लिए आप केल को अपने फूड में जरूर सम्मिलित करें इसमें भरपूर मात्रा में पौष्टिक तत्व पाये जाते हैं जो मोटापे से बचाव कर सकते हैं।

11- शरीर में एनर्जी बनी रहे थकान दूर रहे इसके लिए डाइट में सही पोषण का होना बहुत आवश्यक है। इसके लिए आप अपनी डाइट में केल को सम्मिलित करें इसमें कैलोरी के साथ कैल्सियम, विटामिन, मैग्निशियम, प्रोटीन व आयरन भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं जो शरीर में एनर्जी बनाये रखने का काम करता है।

केल खाने का सही तरीका- How to Use Kale Leaves in Hindi

यदि आपने केल के बारे में ऊपर जानकारी प्राप्त कर ली है और आप इसको कैसा खायें इसके बारे में जानना चाहते हैं तो इसके बारे में हम नीचे आपको बताने जा रहे हैं केल को खाने का सही तरीका।

  • आप केल को पहले उबाल लें इसके बाद उसे सलाद के रूप में खा सकते हैं।
  • आप चाहें तो केल का सूप बना लें या अन्य सूप में केल को मिलाकर उसका सेवन कर सकते हैं।
  • केल की चिप्स बनाकर भी आप उसका सेवन कर सकते हैं।
  • केल का जूस निकालकर भी आप उसका सेवन कर सकते हैं।
  • केल की स्मूदी बनाकर उसका सेवन कर सकते हैं।

केल कहां मिलेगी- Where to Buy Kale Leaves in Hindi

केल के बारे में अन्य जानकारी आपने ऊपर प्राप्त कर ली होगी तो आपके मन में यह सवाल जरूर उठ रहा होगा कि केल मिलेगा कहां, इसे कहां से खरीदें। तो चिंदा न करें आपको इसके बारे में नीचे जानकारी मिल जायेगी।

  • आप केल को ऑनलाइन खरीद सकते हैं।
  • आप केल को अपने नजदीकी मार्केट से भी खरीद सकते हैं।

कैसे पहचाने की केल कौन है और इसे कैसे सुरक्षित रखा जाये-

यदि आप केल लेने गये है तो आपको केल के बारे में जानकारी होना जरूरी है कि केल कौन है तो इसके बारे में जान लेते हैं-

1-केल को लेते समय ध्यान रखें कि जिस फल की पत्तियां गहरे रंग और छोटे मध्यम आकार की हों उसे लें।

2-बगैर कटे हुए एवं नम, कुरकुरे केल के पत्तों को चुनें।

3- वगैर छेज वाले पत्तों के फल का चुनाव करें क्योंकि जिनमें छेद होते हैं उनमें कीड़े लग जाते हैं।

4- केल के पत्ते ही नहीं बल्कि तने भी खाने योग्य होते हैं।

5- जहां तक केल को स्टोर करने की बात है तो इसे एक प्लास्टिक की थैली या फ्रीजर में स्टोर करके रख सकते हैं।

केल के नुकसान- Side Effects of Kale in Hindi

  1. केल को अच्छे से पकाकर ही खांये यदि ऐसा नहीं किया तो इससे थायराइज ग्लैंड के बढ़ने व उसमें सूजन आ सकती है।
  2. केल में पोटैशियम की मात्रा ज्यादा होती है तो इसको अधिक खाने से किडनी की समस्या हो सकती हें।
  3. गर्भवती महिलाएं केल का सेवन डाक्टरी परामर्श के बाद ही करें।

FAQs

केल का किस प्रकार सेवन करना चाहिए?

केल को अच्छी तरह पकाकर सलाद के रूप रूप में, केल का सूप बनाकर या फिर केल की स्मूद बनाकर आप सेवन करते हैं।

क्या केल का सेवन रोज़ाना किया जा सकता है?

यदि आप सही मात्रा में और सही तरीके से केल का सेवन कर रहे है तो ठीक हैं लेकिन इसका रोज सेवन करने से पहले एक बार डॉक्टर से परामर्श जरूर लें।

केल के फायदे क्या है?

केल में बहुत सारे पोषक तत्व पाये जाते हैं जो शरीर के विभिन्न प्रकार के रोग होने से रोकने में मदद करते हैं।केल का उपयोग क्या मोटापा रोकने में शामिल किया जा सकता है?

केल का उपयोग क्या मोटापा रोकने में शामिल किया जा सकता है?

अगर आप बढ़ते बजन से परेशान है तो सबसे पहले तो व्यायाम करें साथ ही केल का भी सेवन करें, क्योंकि डाक्टर्स का भी कहना है कि हरी पत्तेदार सब्जियां वेट लॉस करने में मदद करती हैं।

उम्मीद है कि केल के बारे(Kale in Hindi) में दी गयी जानकारी आपको पसंद आयी होगी। आप इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें जिससे वह भी इसके बारे में जान सकें।

Leave a Comment